भारत के पर्वत के नाम

PALASHIYACLASS
0

भारत के पर्वत के नाम bharat ke parvat ke naam

हेलो दोस्तों में anilpalashiya आपके लिए एक महत्वपूर्ण जानकारी को लेकर आ रहा हु इस लेख में हमने आपके लिए भारत के पर्वत के नाम से सम्बंधित जानकारी को आपके लिए लेकर आ रहा हु इस लेख में हम आपके लिए सभी जानकारी को लेकर आ रहा हु आप यहा पर भारत के पर्वत के नाम bharat ke parvat ke naam से सम्बंधित जानकारी को इस लेख में देखेंगे .



भारत के पर्वत के नाम


भारत के राज्यों में सबसे ऊंची चोटियां


भारत के महत्वपूर्ण पर्वतों के नाम और उनकी जानकारी हम आपके सामने लेकर आ रहे हैं


कंचनजंगा

  • भारत का पहला पर्वत कंचनजंगा है 
  • यह बेसिक श्रेणी भाग 3है 
  • इसकी ऊंचाई 8586 मीटर है 
  • इसकी ऊंचाई 28169 है 
  • यह हिमालय श्रृंखला का भागहै 
  • यह सिक्किम नेपाल के साथ सीमा साझा करती है 



नंदा देवी पर्वत शिखर 



भारत के पर्वत के नाम


  • इसकी ऊंचाई 7816 मीटर है 
  • यह 25643 ऊंचाई है 
  • यह गढ़वाल हिमालय श्रृंखला का हिस्सा माना जाता है 
  • नंदा देवी पार्वती उत्तराखंड राज्य में स्थित है 



कामेट पर्वत 


  • इसकी ऊंचाई 7756 मीटर है 
  • यह गढ़वाल हिमालय का हिस्सा पाया जाता है 
  • इसकी ऊंचाई 25446 है 
  • यह उत्तराखंड राज्य में स्थित है 


साल्टरो कांगरी 


  • यह 7742 मीटर ऊंचाई पर है 
  • यह साल्टोरी काराकोरम श्रृंखला का हिस्सा है 
  • यह जम्मू कश्मीर राज्य में स्थित है 


मामोस्तोंग कांगरी 


  • इसकी ऊंचाई 7516 मीटर है 
  • यह रिमो काराकोरम का हिस्सा पाया जाता है।
  • यह जम्मू कश्मीर राज्य में स्थित है 


सासेर कांगरी 


  • इसकी ऊंचाई 7513 मीटर है 
  • यह ससेर काराकोरम का हिस्सा माना जाता है।
  • जम्मू और कश्मीर राज्य का हिस्सा है।


ससेर कांगरी lll 



भारत के पर्वत के नाम


  • इसकी ऊंचाई 7495 किलोमीटर है 
  • ससेर काराकोरम का हिस्सा माना जाता है 
  • यह जम्मू कश्मीर राज्य में स्थित है 


तेमर कांगरी 


  • इस पर्वत की ऊंचाई 7462 मीटर है 
  • यह ससेर काराकोरम का हिस्सा माना जाता है 
  • यह जम्मू और कश्मीर का हिस्सा माना जाता है 


जोंगसांग शिखर


  • इस पर्वत की ऊंचाई 7462 वर्ग मीटर है 
  • यह पर्वत शिखर कंचनजंगा हिमालय का हिस्सा माना जाता है 
  • यह सिक्किम राज्य का हिस्सा माना जाता है 


K 2  गडवीन अष्टिन


इसकी ऊंचाई 7628 वर्ग मीटर है 

यह साल्टोरो काराकोरम का हिस्सा माना जाता है 

क्या जम्मू कश्मीर राज्य का हिस्सा है 



कब्रू N


  • इसकी ऊंचाई 7412 वर्ग मीटर 
  • यह कंचनजंगा हिमालय कैसा मानाजाता है 
  • और यह सिक्किम हिमालय में स्थित है 


घेंट कांगरि 


  • इसकी ऊंचाई 7401 वर्ग मीटर है 
  • यह साल्टोरो काराकोरम का हिस्सा माना जाता है 
  • जम्मू कश्मीर राज्य में स्थित है 


रीमो 1


  • इसकी ऊंचाई 7385 वर्ग मीटर है 
  • यह रिमो काराकोरम का हिस्सा माना जाता है 
  • यह जम्मू और कश्मीर राज्य में स्थित है 


तेरम कांगरी 


  • इसकी ऊंचाई 7382 वर्ग मीटर है 
  • यह सियाचिन काराकोरम का हिस्सा माना जाता है 
  • और यह जम्मू कश्मीर राज्य में स्थित है 


किरात चूली।


  • इसकी ऊंचाई 7362 वर्ग मीटर है 
  • यह कंचनजंगा हिमालय का हिस्सा माना जाता है 
  • यार सिक्किम राज्य में स्थित है


मना शिखर



भारत के पर्वत के नाम


  • इसकी ऊंचाई 7245 वर्ग मीटर है 
  • यह गढ़वाल हिमालय का हिस्सा माना जाता है 
  • यह उत्तराखंड राज्य में स्थित है 


अप्सरासस कांगरी 


  • इसकी ऊंचाई 7245 वर्ग मीटर है 
  • यह सियाचिन काराकोरम का हिस्सा माना जाता है 
  • यह जम्मू और कश्मीर राज्य का हिस्सा है 


मुकुट पर्वत


  • इसकी ऊंचाई 7242 वर्ग मीटर है 
  • यह गढ़वाल हिमालय का हिस्सा माना जाता है 
  • यह उत्तराखंड राज्य का हिस्सा माना जाता है 


श्री कैलाश पर्वत


  • इसकी ऊंचाई 6932 वर्ग मीटर है 
  • यह गढ़वाल हिमालय का हिस्सा माना जाता है 
  • और यह उत्तराखंड राज्य में स्थित है 



लक्ष्मी पर्वत


  • इसकी ऊंचाई 6983 वर्ग मीटर है 
  • यह रिमो काराकोरम का हिस्सा माना जाता है 
  • और यह जम्मू और कश्मीर राज्य का हिस्सा 


संतोपथ पर्वत 


  • इसकी ऊंचाई 7075 वर्ग मीटर है 
  • यह गढ़वाल हिमालय का हिस्सा माना जाता है 
  • यह उत्तराखंड राज्य में स्थित है। 


त्रिशूल पर्वत


  • इसकी ऊंचाई 7120 वर्ग मीटर है 
  • यह गढ़वाल हिमालय का हिस्सा माना जाता है 
  • यह उत्तराखंड राज्य में पाया जाता है 


दोस्तों इस लेख में हमने आपको भारत के पर्वत के नाम से सम्बंधित जानकारी को आपके सामने रखा है जिससे के सभी भारत के राज्यों में सबसे ऊंची चोटियां भारत के पर्वत के नाम bharat ke parvat ke naam भारत के 10 पर्वतों के नाम भारत के प्रमुख पर्वतों के नाम प्रमुख पर्वत के नाम , से सम्बंधित जानकारी को इस लेख में रखेंगे .
Tags

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
To Top